Category: बिज़नस

ध वेडिंग म्युजियम के लोन्च के साथ लोकडाउन में नए वर्च्युअल वर्ल्ड के दरवाजे खुले

प्रोक्रिएट ब्रान्ड्स एन्ड इवेन्ट्स द्वारा 18 मई, 2020 के रोज इन्टरनेशनल म्युजियम डे के अवसर पर पेज लोन्च किया

सूरत : हमारी संस्कृति मुश्किल समय में बाहर लाने का मार्ग बता रही है और मानवी होने की महत्वता समजाती है। वर्च्यअल विश्व ने लोगों को जोड़ने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करने के साथ-साथ हमें मनोरंजन, संदेशाव्यवहार और कार्य के नए अभिगम को ढूंढने में मदद की है तथा हमें हंमेशा कुछ नया सीखते रहने के लिए सक्षम बनाया है।

यह प्रकार की एक नई और अनोखी पहल ध वेडिंग म्युजियम है, जहां किसी भी व्यक्ति विश्वभर में शादी के साथ जुडी संस्कृति और वारसा को ढूंढ सकता है। सूरत की विश्वसनीय इवेन्ट क्युरेटिंग कंपनी प्रोक्रिएट ब्रान्ड्स एन्ड इवेन्ट्स द्वारा कल्पना किए वेडिंग म्युजियम की वेबसाईट / पेज को 18 मई को इन्टरनेशनल म्युजियम डे के अवसर पर लाईव किया गया था।

विश्व के इतिहास में शादी संबंधित कई कहानियों, धार्मिक विधियों और आंतर सांस्कृतिक जुडे हुए हैं। ध वेडिंग म्युजियम की टीम लग्नोत्सव संबंधित विचारधाराओ किस तरह समय पर विकसीत हो इसकी सुंदर और रसप्रद जानकारी प्राप्त करने के लिए हंमेशा उत्सुक रही है। जिससे टीम शादी संबंधित ऐतिहासिक और प्रवर्तमान जानकारी के साथ साथ कम प्रचलित तथ्यो और उनके संलग्न बाबतों को पेश करने का प्रयास किया है।

इस प्लेटफार्म इन्स्टाग्राम उपर लोन्च होने के केवल दो दिन में ही 27,000 से अधिक व्यू के साथ बेजोड प्रतिसाद मिला है, जो दर्शाता है कि विश्वभर में लोग रसप्रद हकीकत जानने इच्छुक है। ध वेडिंग म्युजियम शादी संबंधित सभी बाबतो यानि की वर्ल्ड रिकार्ड्स, पौराणिक महत्वता वाली शादी, प्राचीन शादी के आभूषण और ज्वेलरी, रोयल वेडिंग, पौराणिक धार्मिक विधियों इत्यादि समेत की जानकारी का भंडार उपलब्ध कराता है। ध वेडिंग म्युजियम का उद्देश्य आगामी समय में दर्शको समक्ष शादी संबंधित रोचक तथ्यो और रसप्रद जानकारी का भंडार पेश करने का है।

इस अवसर पर टीम ने बताया कि, जब तुम ध वेडिंग म्युजियम देखेंगे तब तुम्हारे विचारों को भूतकाल में ले जाकर कल्पनाशक्ति को जीवंत बनाने का प्रयास किजीए, जिससे आप यह सुंदर कार्य को अनुभव कर सकोंगे और इसमें से प्रेरणा भी प्राप्त कर सकोगे।

Read More

इलेक्ट्रॉनिक वेस्ट समस्या से निपटने के लिए अहमदाबाद में चलाया गया क्लीन टू ग्रीन कैम्पेन

अहमदाबाद: रिवर्स लॉजिस्टिक्स ग्रुप (आरएलजी), जो कि रिवर्स लॉजिस्टिक्स समाधानों की अग्रणी वैश्विक सेवा प्रदाता है, ने भारत में अपने प्रमुख अभियान ‘क्लीन टू ग्रीन’ की दूसरी पारी शुरू करने की घोषणा की। इस अभियान का उद्देश्य जिम्मेदार संगठनों के साथ भागीदारी करके रीसाइक्लिंग के लिए इलेक्ट्रॉनिक्स और सुरक्षित प्रथाओं के जिम्मेदार निपटान पर जागरूकता और संवेदनशीलता पैदा करना है।

क्लीन टू ग्रीन अभियान के दूसरे वर्ष के बारे में बोलते हुए सु श्री राधिका कालिया, प्रबंध निदेशक, आरएलजी इंडिया ने कहा, “हमें पिछले साल फ्लैगशिप अभियान की सफलता से प्रोत्साहन मिला। वित्त वर्ष 2019-20 में हम व्यक्तियों और पेशेवरों को यह सुनिश्चित करने के लिए क्लीन टू ग्रीन अभियान की पहुंच का विस्तार करना चाहते हैं कि इलेक्ट्रॉनिक्स का उचित निपटान और पुनर्चक्रण एक राष्ट्रीय प्राथमिकता है और जनता के बीच ई-कचरे के जिम्मेदार निपटान के बारे में जागरूकता की कमी गंभीर मुद्दा है।”

इस अभियान के दूसरे वर्ष के शुभारंभ पर बोलते हुए, इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के निदेशक डॉ संदीप चटर्जी ने कहा, “क्लीन टू ग्रीन अभियान जिम्मेदार निपटान और रीसाइक्लिंग सुनिश्चित करने के लिए इलेक्ट्रॉनिक्स उद्योग और कॉर्पोरेट निकायों के साथ सहयोग करना चाहता है।

आरएलजी इंडिया से जुड़े निर्माता / ब्रांड माइक्रोसॉफ्ट, कैनन, एलजी, लेनोवो, गोदरेज, ब्रदर, सीमेंस, हायर, ओनिडा, आईएफबी, टेक्सलाविज़न, वीडोटेक्स, तनु, जी मोबाइल्स, एस मोबाइल्स, विज़िन, वोल्टासबे को एंड सोलवीयर, और एक्सपीडिशन हैं। अभियान ई-कचरे के सुरक्षित निपटान को बढ़ावा देने के लिए सक्रिय रूप से उनके साथ काम करेगा।

क्लीन टू ग्रीन कैम्पेन के तहत अहमदाबाद के 32 स्कूलों में  25,500 से अधिक लोगों को ई-वेस्ट हैंडलिंग और डिस्पोसल के बारे में प्रशिक्षित किया गया। इन स्कूलों के नाम डीएल रावल स्कूल, विजयनगर हाई स्कूल, सरदार पटेल हाई स्कूल, नूतन गुजराती मीडियम स्कूल, आदर्श गुजराती प्राथमिक विद्यालय हैं।

Read More