भूख से बचने के लिए पेट पर गीला कपड़ा बाँधती है ओडीशा की सीमा मुंडा

भूख से बचने के लिए पेट पर गीला कपड़ा बाँधती है अनाथ लड़की

भूख से बचने के लिए पेट पर गीला कपड़ा बाँधती है अनाथ लड़की

कटक। ओडीशा के केंदुझर ज़िले में अनाथ अकेली ज़िन्दगी की लड़ाई लड़ रही 11 साल की बच्ची सीमा मुंडा को जब भूख बहुत सताती है तो वह पेट पर गीला कपड़ा बाँधकर सो जाती है। बच्ची के माता- पिता का देहांत हो चुका है और उसके परिवार में कोई नहीं बचा है। छोटी सी बच्ची जंगल से लकड़ी काटकर ज़िन्दगी बसर करती है लेकिन जब बीमार हो जाए या कोई इसकी लकड़ी नहीं ख़रीदता है तो उसे भूखे ही सो जाना पड़ता है। वह महादेईपड़ा पंचायत में पड़ने वाले सरलापेठ गाँव में रहती है।

सूत्रों ने बताया कि परिवार में एक के बाद एक सभी परिजन मारे गए। पहले उसकी माँ, फिर पिता और आखिर में दादा की मौत हो गई। इन घटनाओं ने सीमा मुंडा को अकेला कर दिया। अब वह अकेले ही ज़िंदगी की गाड़ी घसीट रही है। गांव के सरपंच ने पत्रकारों को बताया कि उसके पास ज़रूरी दस्तावेज़ नहीं है, जिससे उसे राशन का धान देने में दिक्कत आ रही है। हालांकि घटना की तरफ ध्यान दिलाने के बाद उन्होंने बच्ची को दान से चावल मुहैया करवाने का आह्वान किया है।

Leave a Reply