Tag Archives: libya

Nobel Peace Prize Nominated Ilwad Elman and Hajer Sharief

नोबेल पुरस्कार के लिए नोमिनेट की गईं यह दो मुस्लिम बहादुर लड़कियाँ

ओस्लो। नोबेल शांति पुरस्कार के लिए इस साल दो मुस्लिम नौजवान लड़कियों को नोमिनेट किया गया है। इक महिला सोमालिया में सामाजिक कार्यकर्ता इलमाद इलमान और दूसरी महिला लीबिया में लॉ की छात्रा हाजरा शरीफ हैं। दोनों संयुक्त राष्ट्र के पूर्व महासचिव कोफी अन्नान के एक एनजीओ की पहल का हिस्सा हैं, जो दुनिया के 10 युवा कार्यकर्ताओं को चुनकर उन्हें सामाजिक कार्यों के लिए प्रेरित करता है।

पिछले साल यानी 2018 तक अब तक सिर्फ 12 मुसलमानों को नोबेल पुरस्कार मिला है। इसमें भी 7 पुरस्कार शांति स्थापना की कोशिशों के लिए दिया गया है। इसके अलावा 1979 में पाकिस्तान के अहमदिया समुदाय के अब्दुस सलाम को भौतिकी और 2015 में तुर्की के अज़ीज़ संसार थे जिन्हें आणविक जीव विज्ञान के क्षेत्र में रसायन विज्ञान में नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।

हाजरा शरीफ 2011 से लीबिया में शांति की लड़ाई में सक्रिय हैं जब उन्होंने गृहयुद्ध की भयावह घटनाओं को देखा। आंतकवाद और अशांति को देखकर हाजरा ने 19 साल की उम्र में शांतिपूर्ण लोकतंत्र की स्थापना के लिए सामाजिक कार्य करना शुरू किया। हाजरा शरीफ ने लीबिया के 30 शहरों में 1325 नेटवर्क परियोजना, संगठनों और कार्यकर्ताओं का एक संग्रह शुरू किया, जो सुरक्षित समाजों के निर्माण में महिलाओं की भूमिका के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए मिलकर काम कर सकते हैं। वह वर्तमान में कानून की पढ़ाई कर रही है।

इलमाद इलमान मूल रूप से मोगादिशु, सोमालिया की रहने वाली हैं। उनके माता पिता का नाम फार्तुम अदन और एलमन अली अहमद है। सामाजिक सेवा के दौरान उनके पिता की हत्या कर दी गई जिसके बाद उनकी माँ और बहनों ने कनाडा में शरण ली। मगर इलमाद ने 2010 में 19 साल की उम्र में सोमालिया लौटकर अपने पिता के शांति पहल के काम को जारी रखने का निर्णय लिया। सोमालिया में एल्मन के काम की कई उपलब्धियों में से एक सोमालिया का पहला बलात्कार संकट केंद्र है जो लिंग आधारित हिंसा और शोषण से बचाने में काम करता है।